प्यार शब्द को बना के हथियार लड़के कर रहे लड़कियों को गुमराह, सोशल साइट्स का ले रहे लॉकडाउन मे सहारा

sunayna singh

आज के जमाने में युवाओं के लिए प्यार बस एक खेल बन कर रह गया है, कहीं ना कहीं आप सब भी ये आज हमारे समाज मे देख रहे होंगे सोच रहे होंगे हम ये बातें क्यों कर रहे हैं कहते हैं ना प्यार दिल से होता है लेकिन यहां पर तो खेल ही कुछ और था।

चलिए आपको अब इसकी पूरी कहानी से रूबरू कराते हैं।
एक नाम शुभम सरकार जो कि पटना से पुनाईचक का रहने वाला है और किलर बाइकर गैंग का सक्रिय सदस्य हैं जिसका पूरी कहानी में मुख्य रोल है।
यह वह नाम है जिसने इस पूरी कहानी को रचा है एक ऐसा षड्यंत्र रचा जिससे एक मासूम लड़की की जिंदगी बर्बाद हो रही है, लड़की कभी खुद ही खुदखुशी करना चाहती है तो कभी गुंडे उसे जान से मारने कि धमकी दे रहा है,
वहीं इसी के साथ एक और नाम उजागर होता है सिद्धार्थ यदुवंशी जोकि पटना के फुलवारी शरीफ का रहने वाला है और यह भी बाइकर्स गैंग का सक्रिय सदस्य है
सिद्धार्थ यदुवंशी व शुभम सरकार दोनों लड़कों ने मिलकर आलिया राजपूत नामक लड़की के फेसबुक प्रोफाइल के स्क्रीनशॉट लेकर अपने सोशल साइट्स पर अपलोड कर भद्दे भद्दे व आपत्तिजनक टिप्पणी एवं पोस्ट दोनों ने शेयर करने लगे, जिसके बाद लोगों के अमानवीय कमेंट्स आने लगे जिसके बाद आलिया राजपूत काफी ज्यादा परेशान हो गई।
काफ़ी परेशानियों का सामना करने के बाद उसने हिम्मत कर इसकी शिकायत उसने राम कृष्णा नगर थाना मे कि, थाना वाले सच्चाई को देख FIR दर्ज कर दी. आगे आपको बता दे कि
शुभम सरकार जो कि कुछ समय पहले आलिया राजपूत को अपने प्यार के जाल में फंसाना चाहता था कई दिनों तक वह उसके पीछे लगा रहा लेकिन आलिया राजपूत ने कभी इसकी हामी नहीं भरी जिसके बाद वह आक्रोशित हो उठा और उससे बदला लेने के लिए शुभम सरकार ने अपने दोस्त सिद्धार्थ यदुवंशी के साथ मिलकर घिनौना षड्यंत्र रचा और आलिया राजपूत की इज़्ज़त के साथ खिलवाड़ करने लगा उसे केस वापस लेने कि तरह तरह से धमकी दे रहा उसके परिवार वालो को भी धमका रहा है, लड़की बेचारी बस अब पुलिस वालो के सहारे अपनी जान कि रक्षा और न्याय के उम्मीद मे डर – डर के जी रही है|
फिलहाल पुलीस ने ममाला दर्ज कर जाँच शुरु कर दिया है और पटना से कुछ महिलायों के न्याय के लिए काम करने वाली संस्था जागो बहन द्वारा भी उसे हिम्मत दिया गया है, कि न्याय होगा उसके साथ बस हिम्मत से इस गलत के खिलाफ लड़ाई लड़े |

Share