रविन्द्र कुमार द्वारा निर्देशित हिंदी लव सॉंग “बेक़रारी” 14 फरवरी को रिलीज

पटना ,याशिका म्यूजिक इंटरटेनमेंट के बैनर तले हिंदी लव सॉंग “बेक़रारी” 14 फरवरी 2024 को रिलीज हो रहा है. राजधानी पटना में कला संस्कृति मंत्री और कई अन्य गणमान्य लोगों की उपस्थिति में इस सॉन्ग को रिलीज किया जाना है.
नेपाल के खूबसूरत वादियों में इस हिंदी लव सॉंग “बेक़रारी” को फिल्माया गया है.
नेपाल के काठमांडू और पोखरा के कई रमणिक लोकेशन पर इन गानों की शूटिंग की गई है.

याशिका म्यूजिक इंटरटेनमेंट के निर्माता विजय कुमार ने कहा कि ये सॉन्ग बहुत ही प्यारा है और और जब आप इस सॉन्ग को सुनेंगे तो इसके मिठास में ही आप को जाएंगे. आगे पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि एल्बम के साथ साथ हमारी कंपनी जल्द ही फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम बढ़ाएगी.
इस हिंदी सॉन्ग “बेकरारी” के वीडियो निर्देशक रविन्द्र कुमार हैं,जो ढेर सारे एल्बम्स एवं कई फिल्मों का निर्देशन भी कर चुके हैं.निर्देशक रविन्द्र कुमार ने बताया कि याशिका म्यूजिक इंटरटेनमेंट जल्द ही फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रखेंगी, जिसमे बिहार के कलाकारों एवं टेक्निशियनों को काम करने का सुअवसर प्रदान होगा.

इस सॉन्ग के सिंगर रोहित कुमार हैं जो पटना के जाने-माने सिंगर हैं और गायकी के क्षेत्र में कई सम्मान प्राप्त कर चुके हैं और कई अवार्ड भी जीत चुके हैं.
वही फीमेल वॉइस कीर्ति सिंह ने प्रदान की है ,जो नई दिल्ली की जानी-मानी गायिका और स्टेज परफॉर्मर हैं.
वही दूसरी तरफ अपने गीतो से मो.मेराज और विनय कुमार ने दर्शकों का मन मोह लिया है.

इन गीतों क़ो संगीत से संवारा हैं बिहार के जाने-माने म्यूजिक डायरेक्टर राजकमल सिंहा ने . नए साल के इस “बेकरारी” सॉन्ग का म्यूजिक इतना प्यारा है कि इसको सुनने और देखने के बाद आप को झूमने पर मजबूर हो जाएंगे.

नेपाल के काठमांडू और पोखरा में फिल्माए गए इस सॉन्ग के दृश्यो को कैमरे में कैद किया है बंटी राज व पवन यादव ने और वही नृत्य निर्देशक हनी पांडे हैं,जो सैकरो अल्बमो में अपने नृत्य निर्देशन का जलवा बिखेर चुके हैं.
रूप सज्जा विजय कुमार ने किया हैं. शूटिंग के दरमियान प्रोडक्शन संभाला है विनय कुमार में.
मुख्य कलाकार के रूप में विजय कुमार, स्मृति ठाकुर और खुशी सिंह ने काम किया हैं. इन कलाकारों ने अपने अभिनय और नृत्य से सॉन्ग में जीवंतता प्रदान की है

Share your love
patnaites.com
patnaites.com
Articles: 298