चैम्बर का प्रतिनिधिमंडल पुलिस अधीक्षक यातायात से मिला एवं ज्ञापन दिया


बिहार चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज का एक प्रतिनिधिमंडल आज संध्या में अध्यक्ष
सुभाष पटवारी के नेतृत्व में पूरन कुमार झा, पुलिस अधीक्षक यातायात से उनके कार्यालय कक्ष मे
मिला एवं पटना के यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने हेतु एक ज्ञापन समर्पित किया I
प्रतिनिधिमंडल में पूर्व अध्यक्ष पीo केo अग्रवाल, उपाध्यक्ष आशिष शंकर, महामंत्री पशुपति नाथ
पाण्डेय, मुकेश जैन,] राजा बाबु गुप्ता अजय कुमार, आशीष प्रसाद एवं पवन भगत थे I
चैम्बर अध्यक्ष पटवारी ने बताया कि ज्ञापन कुछ प्रमुख बिन्दु निम्न हैं :-


* गॉंधी मैदान के चारो ओर के यातायात व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से वन-वे किया जाना
चाहिए साथ ही यातायात को बराबर रेगुलेट करने के लिए पर्याप्त संख्या में यातायात पुलिस
की प्रतिनियुक्ति की जानी चाहिए ।
* ट्रैफिक की समस्या केवल पुलिस प्रशासन से ही संबंधित नहीं है बल्कि इसमें कई विभागों
की भागीदारी होती है इसलिए हमारा सुझाव है कि जिला प्रशासन से समन्वय बनाकर वरीय
पदाधिकारियों की एक कमिटी बनाते हुए पटना के लिए एक ठोस कार्य योजना बनाकर
सरकार के पास भेजा जाना चाहिए साथ ही ट्रैफिक पुलिस की संख्या में भी अपेक्षित वृद्धि
किया जना चाहिए ।


* पटना में गाड़ियों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि को ध्यान में रखते हुए राजधानी पटना में
अलग से एक यातायात नियंत्रण कक्ष बनाया जाना चाहिए ।
* बस स्टैण्ड से पटना क्लेक्ट्रीयट जानेवाले रास्ते में चल रहे निर्माण कार्य के कारण रोड
संकरी हो गई है इसलिए इस रोड पर अनाधिकृत रूप से पार्किंग किए गए वाहनों को हटाने
कि व्यवस्था की जानी चाहिए साथ ही यातायात को रेगुलेट करने के लिए पर्याप्त संख्या में
पुलिस बल कि प्रतिनियुक्ति की जानी चाहिय ।
* पटना शहर के विभिन्न भागों में जो जगह-जगह पर गलत तरीके से पार्किंग किया जाता है
जिसके कारण यातायात जाम की समस्या बनी रहती है इसलिए गलत तरीके से किए गए
पार्किंग पर सख्ती बरती जानी चाहिए ।


* पटना के आयकर गोलम्बर से श्रीकृष्णा नगर जानेवाले रास्ते में अतिक्रमण के कारण वाहनों
को आने-जाने में असुविधा हो रही है अतः उस अतिक्रमण को शीघ्रातिशीघ्र हटाया जाना
चाहिए ।

भीषण ट्रैफिक जाम वाले स्थानों पर वाकी-टॉकी से लैस उपयुक्त संख्या में ट्रैफिक के जवानों
को लगाया जाना चाहिए साथ ही इन स्थानो पर हमेशा क्रेन की व्यवस्था रहनी चाहिए ।
* पटना के प्रमुख व्यावसायिक स्थलों पर गाड़ियों की पार्किंग के लिये स्थान चिन्हित कर
उसका विकास किया जाना चाहिए जिससे कि अधिकाधिक गाड़ियों की पार्किंग की व्यवस्था
संभव हो सके ।
* न्यू मार्केट में वाहन पार्किंग कि व्यवस्था कि जानी चाहिय क्योंकि पुल के निचे पार्क बना
दिए जाने के कारण व्यवसाय प्रभावित हो रहा है और इसका प्रतिकूल प्रभाव सरकार के
राजस्व पर भी पड़ रहा है ।


* पटना का स्टेशन गोलम्बर के चारो ओर टेम्पू, ई-रिक्शा, ठेला, बस आदि रोड पर लगाने एवं
अनाधिकृत रूप से वेंडरों द्वारा अतिक्रमण के कारण बराबर जाम की स्थिति बनी रहती है ।
वीणा सिनेमा की ओर से आनेवाले वाहनों को महावीर मंदिर तक काफी मशक्कत करना
पड़ता है घंटों जाम में फसे रहते हैं बहुत से लोगों का तो ट्रेन भी छूट जाता है ।
* ओवर स्पीड वाहनों पर नियंत्रण के लिए सभी यातायात थानों को इंटरसेप्टर वाहन मुहैया
कराया जाना चाहिए ।


* ऐसा देखा जाता है कि गायघाट, पटना सिटी से आनेवाले ऑटो एवं ई-रिकसा बाकरगंज
ट्राफिक पोस्ट से पहले अपने वाहन को रोक कर यात्रियों से भाड़ा वसूलने लगते हैं जिसके
कारण मछुआ टोली तक जाम लग जाता है साथ ही गॉधी मैदान से पटना जंक्शन जानेवाले
ऑटो एवं ई-रिकसा भी उसी मोड़ पर वाहन रोक कर सवारी बैठाते हैं जिसके कारण भी
यातायात बाधित होता हैं अतः इसका ठोस समाधान निकाला जाना चाहिए ।
* ऑटो, ई-रिक्सा एवं नगर सेवा के बसों द्वारा सड़क के बीच में एवं मोड़ पर गाड़ी खड़ा करके
सवारी उतारने एवं चढ़ाने से भी यातायात अवरूद्ध होता है । अतः इसका ठहराव केवल
चिन्हित स्थलों पर हो इस पर सख्ती करने की आवश्यकता है ।
* पटना के विभिन्न स्थानों पर नो वेंडिग जोन का बोर्ड लगाया गया है परन्तु वहीं पर सबसे
अधिक वेंडर रहते हैं जिसका उदाहरण स्टेशन गोलम्बर है अतः जहॉं भी नो वेंडिंग जोन का
बोर्ड लगाया गया हैं वहॉं पर इसका सख्ती से अनुपालन होना चाहिए ।

Share your love
patnaites.com
patnaites.com
Articles: 310