27वां सीआरडी पटना पुस्तक मेला गाँधी मैदान में 1 से 12 दिसम्बर तक

पटना, 29 नवम्बर , बिहार का लोक उत्सव 27वां सीआरडी पटना पुस्तक मेला गाँधी मैदान में सज कर तैयार होने को है। कलकाता से आए सौ से भी अधिक मजदूर और तकनीशियन की ठकठक की आवाज के साथ कुछ अंतिम कीले ठोकी जा रही हैं।1 दिसम्बर से 12 दिसम्बर तक लगने वाला पटना पुस्तक मेला पिली रोशनी के साथ अंधेरे को धीर कर किताबों के प्रकाश से प्रकाशित करने को तैयार है। इस बार पटना पुस्तक मेला का प्रवेश गेट नंबर 10. रामगुलाम चौक की तरफ से होगा। यह जानकारी देश के चर्चित लेखक और सीआरडी पटना पुस्तक मेला के अध्यक्ष रत्नेश्वर ने दी।

38 वर्षों से लगनेवाला पटना पुस्तक मेला इस बार अनेक कार्यक्रमों से गुलजार होगा। इस बार के कुछ नए आकर्षण फिल्म फेस्टिवल, सीता शक्ति, मशहूर कवि युवा स्वर कवि सम्मलेन और स्त्री नेतृत्त्व है तो वहीं नई किताब विशेष बात, कहवा घर, कॉफी हॉउस, जन संवाद, आर्ट गैलरी, नुक्कड़ नाटक आदि कार्यक्रमों में भारत के अनेक दिग्गजों से मिलने का अवसर मिलेगा। इस बार प्रभा खेतान फॉउडेशन द्वारा विशेष कलम सिरीज कार्यक्रम भी होगा।

इस बार युवाओं को प्रेरित करने के लिए पटना पुस्तक मेला का द्वार, ब्लों, स्टेज आदि के नाम विशेष रूप से स्त्री नेतृत्व को ध्यान में रखकर रखे गए हैं। इस बार प्रभावती देवी मुख्य द्वार, शारदा सिन्हा थियेटर, मीरा कुमार मय बउआ देवी आर्ट गैलरी, लेफ्टिनेंट कमांडर शिवांगी सिंह मंच और श्रेयसी सिंह प्रशासनिक भवन आदि नाम रखे गए हैं। इसका मकसद यह है कि आज का युवा स्वयं को इन नेतृत्त्वकर्ताओं से जोड़। सर्थ और उत्प्रेरित हो सके।

इस बार पटना पुस्तक मेला फिल्म फेस्टिवल के अंतर्गत डॉक्यूमेंट्री फिल्म और शॉर्ट फिल्म दिखाई जाए‌गी। इसके साथ फिल्मों पर बातचीत भी होगी। बातचीत में फिल्मी दुनिया से जुड़े श्री सुमन कुमार सिन्हा (रीजेंट सिनेमा हॉल), डॉ जयमंगलः देय, श्री विनोद अनुपम्, श्री सुशील कुमार, डॉ जावेद अख्तर खा, अनन्त, श्रीमती मिनती चकलानवीस, श्री राजेश राज (फिल्म मेकर), प्रशांत रजन् श्री पुज प्रकाश, आदि शामिल होंगे और दर्शकों से सीधा संवाद होगा। किसान चाची, युननिया, अहिल्याबाई अहोल्कर, झांसी की रानी, अरुणिमा सिन्हा, कल्पना चावला, दीपिका कुमार गोदावरी दत्ता, कुमकुम आदि पर वृतचित्र फिल्म दिखाई जाएगी। शार्ट फिल्मों में सिग्नेचर, कशमकश, द डे आफ्टर एवरी डे, घर की मुर्गी, देवी, नीतिशास्त्र, विकल्प, बातें, द पर्पल स्कार्फ, द ब्रोकन टेबल, बेटी आदि दिखाई जाएगी। इस कार्यक्रम में सिने सोसायटी का सहयोग है।

मशहूर कवि युवा स्वर कार्यक्रम के अंतर्गत भारत के विश्व प्रसिद्द कवियों की कविताओं का पाठ पटना के युवा कवि और संस्कृतिकमी करेंगे। मशहूर कवियों में निराला, मुक्तिबोध, शमशेर, दिनकर, सुभद्रा कुमारी चौहान, महदेवी वर्मा, त्रिलोचन केदारनाथ अग्रवाल, आलोक धन्या, अरुण कमल, फेज, काजी नजरूल इस्लाम, जीवनानंद दास, नामदेव ढसाल, ओमप्रकाश वाल्मीकि, अनामिका, राजेश जोशी, नागार्जुन, केदारनाथ सिंह, गोरख पांडेय की कवितायें पढ़ी जाएंगी। इन कविताओं को पढ़नेवाले कवियों-संस्कृतिकर्मियों में अनीश अंकुर अनिल अंशुमन, गौतम् निखिल आनंद गिरी, विनोद कुमार, अजीत कुमार, संजय शांडिल्य, विनय कुमार राजीव रज्जन श्रीवास्तव निवेदिता, जय प्रकाश, चन्द्रविन्द, ज्योति स्पर्श, नताशा, अचित आनद परिमल होगे।

स्त्री नेतृत्व के अंतर्गत देश की प्रमुख हस्तियों में गालिनी अवस्थी, ममता कालिया, रूपा सिंह, भावना शेखर, प्रशासनिक सेवा की एन विजयालक्ष्मी, मधुबाला, शरदा सिन्हा, मोना इा, शारदा सिंह, आरजे अंजलि, आरजे बरखा, आरजे दीपशिखा, प्रशासनिक सेवा हरजोत कौर, विश्वविख्यात खिलाड़ी श्रेयसी सिंह, प्रशासनिक अधिकारी सीमा त्रिपाठी, प्रशासनिक अधिकारी चंदना प्रेयसी आदि शामिल होंगी।

इन कार्यक्रमों के अलावा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति होगी। इसमें सूत्रधार, ओम, अतुल्य आर्ट, अभियान, आदि संस्थाओं द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति होगी।

भारत के प्रतिष्ठित लेखकों, पत्रकारों और विद्वानों में देश के चर्चित कवि अशोक वाजपेयी से बातचीत करेंगे प्रोफेसर तरुण कुमार। कॉफी हॉउस के अंतर्गत दैनिक जागरण के संपादक विष्णु त्रिपाठी से विशेष बातचीत करेंगी मनीषा प्रकाश। वहीं विशेष बात कार्यक्रम के अंतर्गत साहित्य अकादमी प्राप्त चर्चित कवि बद्री नारायण से बात करेंगे कवि शहंशाह आलम। विशेष बात कार्यक्रम में अलग-अलग दिन चर्चित लोक कथाकार रामधारी सिंह दिवाकर, चर्चित पत्रकार लेखक विकास कुमार झा आदि शामिल होंगे। कहवा घर कार्यक्रम के अंतर्गत हिन्दुस्तान के प्रधान संपादक शशि शेखर से बातचीत करेंगी एन डी टीवी की चर्चित एंकर नगमा शहर।

पटना पुस्तक मेला का लोकप्रिय कार्यक्रम जन संवाद इस बार भी होगा। रेणु, शैलेन्द्र और सिनेमा विषय पर लोकप्रिय लेखक अनंत, चर्चित सिनेमा विशेषज्ञ विमलेन्दु सिंह और प्रशात शामिल होंगे। गीडिया और नई चुनौतियों के अंतर्गत वरिष्ठ पत्रकार अनु श्रीवास्तव, दैनिक जागरण के स्थानीय संपादक अलोक मिश्र और प्रभात खबर के स्थानीय संपादक रणजीत सिंह से बातचीत होगी। कथा के पात्र और उसकी भाषा विषय पर लोकप्रिय कथाकार गीताश्री, आशा प्रभात और रश्मि शर्मा शामिल होंगी। नई किताब कार्यक्रम के अंतर्गत देश के चर्चित और लोकप्रिय कवि अलोक धन्वा से उनकी नई किताब पर बातचीत होगी। अलग-अलग दिनों में नई किताब के अंतर्गत लेखक पत्रकार जयंती रंगनाथन, त्रिपुरारी शरण, व्यास जी लेखक पत्रकार संजीव पालीवाल विकास कुमार झा, शताक्षी आनंद की नई किताबों पर बातचीत होगी।

कवि सम्मलेन में इस बार का खास आकर्षण होंगे नीलोत्पल मृणाल। इसके साथ प्रमुख रूप से चंदन द्विवेदी कुमार रजत, आरती आलोक वर्मा आदि शामिल होंगे। यहीं काव्य गोष्ठी में मृत्युंजय प्रभाकर, चन्द्रबिन्द, अरुण शीतांश बालमुकुन्द, सुमिता कुमारी मुसाफिर बैठा आदि शामिल होगे।

इसबार देश के लगभग सौ प्रकाशक अपनी नई और प्रमुख किताबों के साथ शामिल होंगे इनमें प्रभात प्रकाशन राजकमल प्रकाशन, वाणी प्रकाशन, राजपाल एंड संज, साहित्य अकादमी, सेतु प्रकाशन, प्रकाशन संस्थान, भारतीय ज्ञानपीठ, सम्यक प्रकाशन, जुलोजिकल सर्वे ऑफ इण्डिया, दिशा पब्लिकेशन्स, ओसवाल बुक्स नोवेल्टी एड कपनी, कोरल पब्लिशर्स, पूजा पब्लिकेशन्स गुतम बुक सेंटर, उपहार प्रकाशन, दृष्टि पब्लिकेशन्स, ठाकुर पब्लिकेशन्स, जनचेतना मर्कजा मकतबा, इस्लामी पब्लिशर्स, अहमदिया मुस्लिम जमात, ओशो, रास्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद, जनगणना कार्यालय सहित प्रमुख है।

Share your love
patnaites.com
patnaites.com
Articles: 298